Satguru Tere Darshan Ko Aaye Hai Bhagat Tere

Satguru Tere Darshan Ko Aaye Hai Bhagat Tere

सतगुरु जी तेरे दर्शन को आये है बच्चे तेरे
आये है भगत तेरे

माँ कलसा का राज दुलारा
संतोक पिता की आँखों का तारा,
सतगुरु जी तुम्हे शीश जुकाने को
आये है बच्चे तेरे

कांशी वानरस धाम पुराना
संग ते जपले नाम गुरा दा,
सतगुरु जी तेरा सत्संग करने को
आये है बच्चे तेरे

गोल्डी मुजफत महिमा लिखदा
गुरु रविदास कण कन विच दिसदा
सतगुरु जी तेरा सिमरन करने को
आये है बच्चे तेरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here