Mithiyan Murada Maa To Paun Di Eh Raat Hai

Mithiyan Murada Maa To Paun Di Eh Raat Hai

मिठियां मुरादा माँ तो पौन दी एह रात है
सुते होए भागा नु ज्गोन दी रात ऐ
गुण मेहरावाल्ड़ी दे गौन दी रात ऐ

सचे दिलो आस रख जेह्ड़े बेहन गे
ओहना झोली रेहमता दे हीरे पल्ले पैन गे
प्यार नाल सिर दी झुकोन दी एह रात ऐ

मने गी स्वालियाँ दी हर इक गल माँ
शरदा दे बूटियाँ नु ला देवेगी फल माँ
दुःख महारानी नु सुनोन दी एह रात ऐ,

ऐथे निर्दोष अज सुनेगी माँ सब दी
एसी केहड़ी रेहमत जो एथो नही ल्भ्दी
भावना दा पलड़ा फेलाउन दी रात ऐ,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here