हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता – Hamare Sath Shri Raghunath Too Kis Baat Ki Chinta

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।
शरण में रख दिया जब माथ तो
किस बात की चिंता ।
किया करते हो तुम दिन रात क्यों
बिन बात की चिंता ।
किया करते हो तुम दिन रात क्यों
बिन बात की चिंता ।
तेरे स्वामी, तेरे स्वामी, तेरे स्वामी,
तेरे स्वामी को रहती है,
तेरे हर बात की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।

न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की ।
न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की ।
न खाने की, न पीने की, न मरने की, न जीने की ।

रहे हर स्वास, रहे हर स्वास, रहे हर स्वास
रहे हर स्वास में भगवान के,
प्रिय नाम की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।

विभीषण को अभय वर दे किया
लंकेश पल भर में ।
विभीषण को अभय वर दे किया
लंकेश पल भर में ।
विभीषण को अभय वर दे किया
लंकेश पल भर में ।

उन्ही का हाँ, उन्ही का हाँ, उन्ही का हाँ
उन्ही का हाँ कर रहे गुण गान तो
किस बात की चिंता ।
उन्ही का हाँ कर रहे गुण गान तो
किस बात की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।

हुई भक्त पर किरपा, बनाया दास प्रभु अपना ।
हुई भक्त पर किरपा, बनाया दास प्रभु अपना ।
हुई भक्त पर किरपा, बनाया दास प्रभु अपना ।

उन्ही के हाथ, उन्ही के हाथ, उन्ही के हाथ,
उन्ही के हाथ में अब हाथ तो
किस बात की चिंता ।
उन्ही के हाथ में अब हाथ तो
किस बात की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।

हमारे साथ श्री रघुनाथ तो
किस बात की चिंता ।
शरण में रख दिया जब माथ तो
किस बात की चिंता ।
किया करते हो तुम दिन रात क्यों
बिन बात की चिंता ।
किया करते हो तुम दिन रात क्यों
बिन बात की चिंता ।

Hamare Sath Shri Raghunath Too Kis Baat Ki Chinta

Hamare Saath Shri Raghunath Too
Kis Baat Ki Chinta।
Sharan Mein Rakh Diya Jab Maath Too
Kis Baat Ki Chinta।
Kiya Karate Ho Tum Din Raat Kyon
Bin Baat Ki Chinta।
Kiya Karate Ho Tum Din Raat Kyon
Bin Baat Ki Chinta।

Tere Swami, Tere Swami,
Tere Swami
Tere Swami Ko Rahati Hai,
Tere Har Baat Ki Chinta।
॥ Hamare Saath Shri Raghunath Too…॥

Na Khaane Ki, Na Pine Ki,
Na Marane Ki, Na Jine Ki।
Na Khaane Ki, Na Pine Ki,
Na Marane Ki, Na Jine Ki।
Na Khaane Ki, Na Pine Ki,
Na Marane Ki, Na Jine Ki।

Rahe Har Svaas Mein,
Rahe Har Svaas Mein,
Rahe Har Svaas Mein
Rahe Har Svaas Mein Bhagawan Ke
Priy Naam Ki Chinta।
Rahe Har Svaas Mein Bhagawan Ke
Priy Naam Ki Chinta।
॥ Hamare Saath Shri Raghunath Too…॥

Vibhishan Ko Abhay Var De Kiya
Lankesh Pal Bhar Mein।
Vibhishan Ko Abhay Var De Kiya
Lankesh Pal Bhar Mein।
Vibhishan Ko Abhay Var De Kiya
Lankesh Pal Bhar Mein।

Unhi Ka Ha, Unhi Ka Ha, Unhi Ka Ha
Unhi Ka Ha Kar Rahe Gun Gaan to
Kis Baat Ki Chinta।
Unhi Ka Ha Kar Rahe Gun Gaan to
Kis Baat Ki Chinta।
॥ Hamare Saath Shri Raghunath Too…॥

Hui Bhakt Par Kirapa
Banaya Das Prabhu Apana।
Hui Bhakt Par Kirapa
Banaya Das Prabhu Apana।
Hui Bhakt Par Kirapa
Banaya Das Prabhu Apana।

Unhi Ke Haath,
Unhi Ke Haath,
Unhi Ke Haath
Unhi Ke Haath Mein Ab Haath to
Kis Baat Ki Chinta।
Unhi Ke Haath Mein Ab Haath to
Kis Baat Ki Chinta।
॥ Hamare Saath Shri Raghunath Too…॥

Hamare Saath Shri Raghunath Too
Kis Baat Ki Chinta।
Sharan Mein Rakh Diya Jab Maath Too
Kis Baat Ki Chinta।
Kiya Karate Ho Tum Din Raat Kyon
Bin Baat Ki Chinta।
Kiya Karate Ho Tum Din Raat Kyon
Bin Baat Ki Chinta।

Leave a Comment